April 5, 2020

लॉकडाउन: दुकानदार वसूल रहे मनमानी कीमत, तो ऐसे करें घर बैठे शिकायत!

कोरोना वायरस के कारण देशभर में 14 अप्रैल तक के लिए लॉकडाउन है। घबराहट में लोग सामान खरीदकर अपने घरों में भर रहे हैं ताकि आने वाले दिनों में परेशानी न हो। इस मौके का फायदा उठाकर कई जगह दुकानदार मनमानी करने लगे हैं। ग्राहकों से मनमाने तरीके से वसूली की जा रही है। अगर आप भी इस परेशानी का सामना कर रहे हैं तो सरकार से घर बैठे इसकी शिकायत कर सकते हैं।

शिकायत करने के सबसे आसान तरीके

1. कंज्यूमर मामले की शिकायत consumerhelpline.gov.in पर जाकर ऑनलाइन कर सकता है।

2. कंज्यूमर टोल फ्री नंबर 14404 या फिर 1800-11-4000 पर फोन करके भी शिकायत दर्ज करवा सकते हैं।

3. कंज्यूमर 8130009809 नंबर पर एसएमएस भेजकर भी शिकायत कर कर सकते हैं। एसएमएस मिलने के बाद कंज्यूमर को फोन किया जाएगा और उसकी शिकायत दर्ज की जाएगी।

सरकार की है नजर

अगर कोई दुकानदार सामानों की कालाबाजारी कर मनमानी कीमत वसूलता है तो इसको लेकर सरकार भी सख्त कार्रवाई के मूड में है। केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान के मुताबिक सरकार की ऐसे लोगों पर नजर है और जरूरत पड़ने पर कार्रवाई भी की जाएगी।

रामविलास पासवान ने बताया कि सरकार कोरोना के खतरे से उत्पन्न स्थिति में तमाम आवश्यक वस्तुओं की बाजार में उपलब्धता पर लगातार नजर बनाए हुए है। इसके साथ ही सभी राज्य सरकारों के संपर्क में है ताकि कहीं भी किसी चीज की किल्लत न हो। सभी उत्पादकों और व्यापारियों से भी अपील है कि इस घड़ी में मुनाफाखोरी से बचें।

क्या हैं आपके अधिकार

– सुरक्षा का अधिकार यानी सही वस्तुओं और सेवाओं को पाने का अधिकार है। अगर कोई वस्तु या सेवा कंज्यूमर के जीवन और संपत्ति के लिए खतरनाक है, तो उसके खिलाफ सुरक्षा पाने का अधिकार है।

– सूचना के अधिकार यानी कंज्यूमर को वस्तुओं और सेवाओं की गुणवत्ता, मात्रा, शक्ति, शुद्धता, मानक और कीमत के बारे में जानकारी पाने का अधिकार है। इसका मतलब यह है कि अगर कोई दुकानदार या सप्लायर या फिर कंपनी आपको किसी वस्तु या सामान की सही जानकारी नहीं देती है, तो उसके खिलाफ आप केस कर सकते हैं।

– चुनने का अधिकार यानी कंज्यूमर को वस्तुओं और सेवाओं को चुनने का अधिकार है। वो अपनी पसंद की सेवा या वस्तु का चुनाव कर सकता है। किसी भी कंज्यूमर को कोई विशेष वस्तु या सेवा लेने के लिए बाध्य नहीं किया जाएगा।

 

WhatsApp chat
%d bloggers like this: