January 16, 2021

Samachar One

Web News Portal

नीट और जेईई के विरोध में कूदी दिल्ली सरकार, शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा, परीक्षाएं स्थगित करे केंद्र!

दिल्ली सरकार ने केंद्र सरकार से आग्रह किया है कि वो नीट और जेईई परीक्षाएं स्थगित करे और किसी अन्य तरीके से परीक्षाएं ली जाएं। जेईई और नीट परीक्षा लिए जाने का विरोध अब तक छात्र ही कर रहे थे। लेकिन अब इन परीक्षाओं के विरोध में दिल्ली सरकार भी कूद पड़ी है।

दिल्ली के शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा, “केंद्र सरकार बोल रही है कि परीक्षा दिलाने की व्यवस्था कर लेंगे। हमारे स्वास्थ्य मंत्री को कोरोना हुआ, खुद गृहमंत्री अमित शाह भी कोरोना से जूझे, कई राज्यों के मंत्रियों, राज्यपाल, मुख्यमंत्रियों को भी कोरोना हुआ। वो सब भी तो इसी व्यवस्था के अंदर आते हैं। इसी व्यवस्था के भरोसे अगर आप 28 लाख बच्चों को ये बोलेंगे कि आप परीक्षा दे दो और हम सब ठीक कर देंगे, तो ये संभव नहीं है।”

दिल्ली सरकार के मुताबिक, ये कहना कि सिर्फ 3 घंटे की परीक्षा ही किसी टैलेंट को खोजने का एकमात्र तरीका है, तो ये एक संकुचित सोच को दिखाता है। परीक्षाओं के प्रति असहमति जताते हुए दिल्ली सरकार का कहना है कि आज पूरी दुनिया परीक्षा के सिस्टम से बाहर आ रही है और कई नए विकल्प अपना रही है।

दिल्ली सरकार ने छात्रों के सुर में सुर मिलाते हुए इस वर्ष नीट और जेईई की परीक्षाएं रद्द किए जाने की मांग की है। दिल्ली सरकार ने केंद्र से कहा है कि इन परीक्षाओं के स्थान पर कोई और वैकल्पिक व्यवस्था लागू की जाए। दिल्ली के उपमुख्यमंत्री एवं शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा, “मेरी केंद्र से विनती है कि पूरे देश में ये दोनो परीक्षाएं तुरंत रद्द करे और इस साल एडमिशन की वैकल्पिक व्यवस्था करे।”

इससे पहले देशभर के हजारों छात्रों ने विरोध जताते हुए केंद्रीय शिक्षा मंत्री से ये परीक्षाएं रद्द करने की अपील की थी। परीक्षाएं रद्द न करवाए जाने पर छात्रों ने अदालत का भी रुख किया। परीक्षाएं अगले माह सितंबर में होनी हैं।