January 16, 2021

Samachar One

Web News Portal

दिल्ली-NCR में लगातार बारिश से बदला मौसम, दिन में छाया अंधेरा!

दिल्ली-NCR में भारी बारिश का दौरा जारी है. यहां सुबह से ही घने बादल छाए हुए थे. मौसम विभाग ने पहले ही आज के लिए भारी बारिश की चेतावनी जारी की थी. दिल्ली में भारी बारिश के बाद राजधानी के निचले इलाकों में जलजमाव हो गया है और गाड़ियों की आवाजाही प्रभावित हुई. दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने बुधवार की सुबह एक अलर्ट जारी किया है, जिसके मुताबिक रिंग रोड पर WHO बिल्डिंग के पास जलभराव के कारण भैरो मार्ग से IP फ्लाईओवर की तरफ जाने वाले रास्ते को बंद कर दिया गया है.

भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के क्षेत्रीय पूर्वानुमान केंद्र के प्रमुख कुलदीप श्रीवास्तव ने कहा, ‘दिल्ली में मंगलवार को भी भारी बारिश हुई. यहां सफदरजंग और लोधी रोड मौसम केंद्रों में लगभग 20 मिमी बारिश दर्ज की गई.’

वहीं, भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने बुधवार यानी आज दिल्ली और आसपास के इलाकों में भारी से बहुत भारी बारिश होने की पूरी संभावना पहले ही जता चुका है. हालांकि, 23 जुलाई से बारिश की तीव्रता और वितरण में कमी आने की संभावना है. यानी गुरुवार के बाद बारिश कम हो सकती है.

मौसम विभाग ने मंगलवार की शाम ही आज यानी बुधवार को पश्चिमी, दक्षिण-पश्चिमी और उत्तर-पश्चिमी दिल्ली में आंधी-तूफान के साथ भारी बारिश का अलर्ट जारी किया था. साथ ही दिल्ली के आस-पास के इलाके जैसे हिसार, भिवानी, जींद, मेहम, कैथल, पानीपत, रोहतक, झझर, करनाल और कुरुक्षेत्र में भी भारी से बहुत भारी बारिश हो सकती है.

ये है दिल्ली में भारी बारिश का कारण

मौसम विशेषज्ञों ने कहा कि बंगाल की खाड़ी से आर्द्रता से भरी पूर्व से आने वाली हवाओं और अरब सागर से दक्षिणपूर्वी हवाओं का अभिसरण उत्तर-पश्चिमी भारत की ओर होने की संभावना है. मानसून ट्रफ भी इस ओर से ही गुजर रहा और इन दो कारणों से दिल्ली-एनसीआर में मध्यम से भारी बारिश हुई.

सफदरजंग वेधशाला ने जुलाई में अब तक कुल 127.2 मिमी वर्षा दर्ज की है. बता दें कि रविवार को दिल्ली में भारी बारिश से मची तबाही के कारण 4 लोगों की मौत हो गई थी और 10 से ज्यादा घर बह गए थे.