June 4, 2020

चीन छोड़कर यूपी आ रही है जर्मन जूता कंपनी, आगरा में मिलेगी 10 हजार लोगों को नौकरी

नई दिल्ली:

कोरोना वायरस महामारी के बीच भारत के लिए एक अच्छी खबर सामने आई है। जर्मन कंपनी कासा एवर जोबा चीन से भारत में अपना मल्टी मिलियन डॉलर का जूता निर्यात कारोबार ला रही है। भारतीय जूता निर्यातक कंपनी आई ट्रैक और जर्मन कंपनी कासा एवरेज जीएमबीएच के बीच इस संबंध में एक समझौता हुआ है।

भारत में निर्मित होने जा रहे इस ब्रांड का नाम वॉन वेलक्स जर्मनी -5 ज़ोन है। भारत में कंपनी के आने से 10,000 लोगों को प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से रोजगार मिलेगा, इसके साथ ही लाखों डॉलर का व्यवसाय होगा। जर्मन कंपनी कासा एवर जोबो ने चीन के बजाय भारत में उत्पादन करने का फैसला किया है। उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार कंपनी को समर्थन देने के लिए तैयार है। बता दें कि फुटवियर सेक्टर में यह पहला समझौता है, जो जर्मन तकनीक और भारतीय जनसांख्यिकी को ध्यान में रखकर किया गया है।

इसमें मुख्य बात प्रौद्योगिकी है, जो अभी तक भारत में मौजूद नहीं है। यह पूर्ण निर्यात इकाई होगी और भारत के निर्यात को बढ़ावा देगी। इससे न केवल भारत की विश्वसनीयता बढ़ेगी बल्कि विदेशी मुद्रा भी प्राप्त होगी। कंपनी के लिए आगरा, यूपी में एक प्लांट स्थापित किया जाएगा। यह कंपनी अच्छी तरह से बनाए हुए जूते बनाती है।